Home > About Us... > सरोजनी नायडू के साथ आजाद हिंद के फौज के नायको की रिहाई के लिये काम करनेवाली स्वतंत्रता सेनानी सय्यद फकरुल हाजिया हसन

सरोजनी नायडू के साथ आजाद हिंद के फौज के नायको की रिहाई के लिये काम करनेवाली स्वतंत्रता सेनानी सय्यद फकरुल हाजिया हसन

सरोजनी नायडू के साथ आजाद हिंद के फौज के नायको की रिहाई के लिये काम करनेवाली स्वतंत्रता सेनानी सय्यद फकरुल हाजिया हसन
X


स्वतंत्र सेनानी : सैयद फकरुल हजिया हसन, जिन्होंने न केवल भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में भाग लिया बलकी अपने बच्चों को राष्ट्रीय आंदोलन में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया । उन्होंने अपने बच्चों को स्वतंत्रता सेनानियों के रूप में तैयार किया, जो हैदराबाद हसन ब्रदर्स के नाम से प्रसिद्ध हुए। हाज़िया हसन ने अमीर हसन से शादी की, जो उत्तर प्रदेश से आए थे ,और हैदराबाद शहर में बस गये थे। इस प्रकार वह हैदराबादी बन गई। उनके पति आमिर हसन हैदराबाद सरकार में एक उच्च पदस्थ अधिकारी थे। अपनी नौकरी के रूप में, उन्हे विभिन्न स्थानों की यात्रा करनी पड़ी। उन्होंने अपने पति के साथ उन स्थानों की भाषाओं में बहुत रुचि दिखाई और इस तरह उन्होंने उर्दू के साथ-साथ अंग्रेजी, मराठी, कन्नड़, गुजराती, तेलुगु सीखी। इन दौरों के दौरान, उन्होंने भारत में अस्वस्थता का दुख करिब से देखा। हाजिया हसन ने बालिकाओं के विकास के लिए

बहुत काम किया। भले ही वह हैदराबाद में रहती थी, जो अंग्रेजों के नियंत्रण में थी, उसने भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में सक्रिय रूप से भाग लिया। महात्मा गांधी के आह्वान करणें पर उन्होंने

आबिद मंज़िल में कपड़े जो हैदराबाद के ट्रूप बाज़ार में स्थित था उन विदेशी कपडो को जला दिया। उसने खिलाफत और असहयोग आंदोलन मे जी जान से हिस्सा लिया। फखरुल हजिया ने श्रीमती सरोजिनी नायडू

के साथ आज़ाद हिंद फ़ौज के नायकों की रिहाई के लिए कड़ी मेहनत की। महात्मा गांधी, नेहरू, सुबाषचंद्र बोस मौलाना अबुल कलाम आज़ाद

जैसे इण्डियन नेशनल काँग्रेस के प्रसिद्ध नेता ने हज़िया हसन के प्रति बहुत सम्मान दिखाया। वे उसे अम्मा कहकर बुलाते थे। उनके स्वतंत्र विचारों ने उनके तीन बच्चों को प्रेरित किया।उनके बड़े बेटे बदरुल हसन ने स्वतंत्रता आंदोलन में महात्मा गांधी का अनुसरण किया। उनके छोटे बेटे आबिद हसन सफरानी ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस का अनुसरण किया। आबिद हसन सफरानी को जय हिंद 'का नारा के जनक और, सुभाष चन्द्र बोस को नेताजी' का खितांब देने के रूप में जाना जाता है, जो भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के साहित्यिक इतिहास में यादगार हैं। उसका दूसरा बेटा जाफर हसन हैदराबाद सरकार में शिक्षाविद बने और उन्होंने अपनी मां की तरह गांधीजी का अनुसरण किया। सैयद फकरुल हाजिया हसन जो अपनी मातृभूमि की आजादी के लिए लडी ऐसी महान स्वतंत्रता सेनानी का 1970 में निधन हो गया।


संदर्भ- 1)THE IMMORTALS

लेखक syed naseer ahmed

▪️▪️▪️▪️▪️▪️▪️▪️▪️

संकलन तथा अनुवादक लेखक अताउल्ला खा रफिक खा पठाण सर टूनकी तालुका संग्रामपूर जिल्हा बुलढाणा महाराष्ट्र

9423338726

Updated : 3 March 2021 5:03 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top